pradhan mantri health id card yojna

प्रधानमंत्री राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड 2021 ऑनलाइन आवेदन | Pradhan Mantri National Health ID Card Yojna

प्रधानमंत्री राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड 2021: देश के प्रधानमंत्री ने अभी सभी देश के नागरिको के लिए एक नई योजना की शुरुआत की है जिसके अंतर्गत देश के सभी नागरिको का हेल्थ आईडी कार्ड बनाया जायेगा। इस हेल्थ आईडी कार्ड में उसके नागरिक की सभी हेल्थ रिपोर्ट  का पूरा व्यौरा स्टोर किया जायेगा।

इस हेल्थ आईडी कार्ड से देश के सभी नागरिको को काफी ज्यादा फायदा होगा और अब उन्हें अपनी मेडिकल रिपोर्ट को अपने साथ ले जाना नही होगा।

जब भी कोई नागरिक अपनी किसी डॉक्टर के पास अपनी रिपोर्ट बनवाएगा वह रिपोर्ट इस हेल्थ आईडी कार्ड पर अपलोड कर दी जाएगी और इसके बाद उस मरीज़ की वह रिपोर्ट कही से भी access की जा सकेगी।

अगर आप अपना हेल्थ आईडी कार्ड बनवाना चाहते है तो आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े। इस आर्टिकल में हम आपको प्रधानमंत्री द्वारा बताई गयी इस योजना के बारे में सभी जानकारी देगे जिससे आप भी अपना हेल्थ आईडी कार्ड बनवा सके।

यह तो आप जानते ही है कि पिछले 1 साल से पूरे विश्व में कोरोना वायरस का संक्रमण चल रहा है और इस संक्रमण में करोडो लोग आये है और आए दिन लोग इस वायरस से संक्रमित होते ही जा रहे है और साथ ही साथ बहुत से मरीज़ ठीक भी हो रहे है।

अब जब इन मरीजों को फिर से दवाई लेने जाना होता है तो उन्हें अपनी सभी मेडिकल रिपोर्ट को अपने साथ ले जाना पड़ता है लेकिन जब यह हेल्थ आईडी कार्ड बन जायेगा तब उनको अपने साथ कोई रिपोर्ट ले जाने की जरूरत नही पड़ेगी और उनकी सभी हेल्थ रिपोर्ट इस हेल्थ आईडी कार्ड पर मिल जाएगी। इस हेल्थ आईडी कार्ड को देश के सभी नागरिको के लिए उपलब्ध कराया जायेगा, तो अगर आप इस हेल्थ आईडी कार्ड के बारे में और भी जानकारी लेना चाहते है तो आप इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

प्रधान मंत्री राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड क्या है ?(What is National Health ID Card in Hindi)

Pradhan Mantri National Health Id Card Yojna: इस राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड को हमारे देश के प्रधानमंत्री द्वारा नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के अंतर्गत 15 अगस्त 2020 को इस योजना को शुरू किया गया था। इस राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड को मरीजों की सभी रिपोर्ट को एक जगह एक प्लेटफार्म पर रखने के लिए डेवेलोप किया गया है।

इस राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड के बनने से मरीज़ के साथ साथ एक डॉक्टर को भी काफी फायदा होगा क्योंकि इस राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड में मरीज़ की सभी रिपोर्ट को डिजिटल रूप से स्टोर किया जायेगा और जिसके माध्यम से डॉक्टर्स मरीज़ की पूरी मेडिकल हिस्ट्री देख पाएंगे कि उसकी कब और कौन सी बीमारी हुई थी और उसने कौन से रिपोर्ट कराई थी और उसके क्या स्टेटस था। अब सरकार ने इन राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड को बनाने का काम जनवरी 2021 से शुरू करने का फैसला लिया है।

इस राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड योजना के तहत देश का प्रत्येक नागरिक अपना राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड बनवा सकेगा। इस राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड के बनने से मेडिकल और स्वास्थ्य के क्षेत्र में बहुत बड़ी क्रांति होगी और इस राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड में मरीज़ का हेल्थ से सम्बंधित सभी तरह का डाटा स्टोर किया जायेगा।

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन क्या है (What is Digital Health Mission in Hindi)

इस नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत देश के मेडिकल से संबधित सभी प्रकार के डाटा को डिजिटल करने का एक प्रयास है। इस नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के अंतर्गत ही भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड को लांच किया गया है। इसके बनने के बाद सरकार द्वारा इस मेडिकल क्षेत्र को डिजिटल तरीके से काम करने के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा।

इससे आने वाले सालो में डॉक्टर्स के साथ साथ मरीजों को भी कई तरह के फायदे मिलेगे। भारत सरकार द्वारा इस नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन को धीरे धीरे पुरे भारत में पूरी तरह का लागू किया जायेगा अभी इसको भारत के केंद्र शासित राज्यों में लागू किया जायेगा और इसके इसको पूरे देश में लागू कर दिया जायेगा।

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन को सबसे पहले किन राज्यों में लागू किया जायेगा (In which states will the National Digital Health Mission be implemented first)

इस नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन योजना को सबसे पहले भारत केंद्र शासित प्रदेशो में लागू किया जायेगा, इन प्रदेशो में लदाख , लक्षदीप, अंदमान निकोबार , चंडीगढ़ , पुडुचेरी , दादरा नगर हवेली , दमन दीव प्रदेशो को शामिल किया जायेगा।

इस प्रदेशो में मेडिकल से सम्बंधित सभी जगहों जैसे कि अस्पतालो , क्लिनिक ,डॉक्टरों के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिए गये है और इन जगहों पर दवाई लेने वाले सभी मरीजों का नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड बनाया जायेगा, जिससे कि मरीजों के साथ साथ डॉक्टर्स को भी काफी ज्यादा फायदा होगा।

अगर कोई मरीज़ ऑनलाइन वेबसाइट के माध्यम से इस राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड को नही बनवा पाता है तो उसकी यह आईडी उस अस्पताल से भी बन सकेगी जहाँ से वह अपना इलाज कराता है। देश में इन राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड को बनवाने के लिए एक पोर्टल लांच किया गया है जिस पोर्टल पर विजिट करके आप इस राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड के लिए आवेदन कर सकते है।

Also Read: SIP Mutual fund kya hai?

इन राज्यों में पूरी तरह से इस योजना को लागू करने के बाद देश के बाकि राज्यों में भी इस योजना को लागू कर दिया जायेगा। भारत सरकार द्वारा शुरु किया गया है यह पहलू पुरे देश के मेडिकल सिस्टम को बदलाव लायेगा।

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत मिलने वाली सुविधाएँ (Facilities provided under National Digital Health Mission)

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के अंतर्गत देश के नागरिको को कई तरह के लाभ दिए जायेगे जिनके बारे में नीचे बताया जा रहा है।

  • इस नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन  का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इस योजना के तहत देश के सभी नागरिको के आधार कार्ड की तरह राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड बनाया जायेगा।
  • इस पोर्टल की मदद से सभी राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड धारको को डीजी डॉक्टर की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • आपको इस नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के अंतर्गत e-pharmacy की सुबिधा भी मिल सकेगी।
  • इसके अलावा अगर आप नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन स्वास्थ्य के तहत हेल्थ आईडी कार्ड बनवाते है तो आपको स्वास्थ्य सुविधा रजिस्ट्री भी मिलेगी।
  • इन सभी बातों के अलावा आपको इस नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन  के अंतर्गत मिलने वाली सुबिधा व्यक्तिगत स्वास्थ्य देखभाल रिकॉर्ड  है जो आपके द्वारा कराई गयी सभी रिपोर्ट, दवाई का व्यौरा, और साथ ही आपके द्वारा किसी डॉक्टर से ली गयी दवाई का सभी रिकॉर्ड बनाया जायेगा।
  • इस नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के अंतर्गत बनने वाला राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड 14 डिजिट का होगा जो सभी नागरिको के लिए अलग होगा।
  • आपके राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड पर एक QR कोड भी बनाया जायेगा जिसको स्कैन करके उस नागरिक की मेडिकल जानकरी ली जा सकेगी।
  • इस नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन  के तहत देश के सभी सरकारी, गैर सरकारी, क्लिनिक आदि सभी को इस पोर्टल से जोड़ा जायेगा इससे राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड में किसी मरीज़ के रिकॉर्ड को बनाने में काफी मदद मिलेगी।
  • जब कोई डॉक्टर किसी मरीज़ का मेडिकल रिकॉर्ड देखना चाहेगा उसको वेरिफिकेशन के लिए एक OTP डालना होगा, जिसके बाद ही उस मरीज़ की जानकारी कोई डॉक्टर देख सकेगा।

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की विशेषताएँ (National Digital Health Mission Features)

भारत सरकार द्वारा शुरू की गयी इस नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की कई विशेषताएँ है जो इसके तहत देश के नागरिको को दिए जायेगे।

  • भारत सरकार ने इस नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत 500 करोड़ रुपए का बजट जारी किया है।
  • इस नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत जितने भी हेल्थ आईडी कार्ड बनाये जायेगे उन सभी हेल्थ आईडी कार्ड का डाटा पूरी तरह सिक्योर रखा जायेगा।
  • राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड के माध्यम से लोगो के समय की भी बचत होगी और साथ ही उनको डॉक्टर से दवाई लेने के लिए अपने रिपोर्ट को साथ नही ले जाना होगा।
  • इस नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत देश के सभी अस्पताल, क्लीनिक और पेशेंट का डाटा एक ही जगह पर मिल सकेगा।
  • नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन  के तहत शुरू किये गये इस राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड को मेडिकल स्टोर तथा हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी द्वारा बनाया जायेगा और यह डाटा डिजिटल फॉर्म में ही स्टोर किया जायेगा, यह हेल्थ आईडी कार्ड चिकित्सा क्षेत्र में एक बहुत बड़ी क्रांति लाएगा।
  • इस हेल्थ कार्ड के कारण अब लोगों को अपनी मेडिकल रिपोर्ट हर जगह ले जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।
  • इस नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के अंतर्गत आईडी कार्ड लेने वाले नागरिकों को एक यूनिक आईडी दी जाएगी जिसके माध्यम से मरीज़ की डाटा अपलोड की जा सकेगी और डॉक्टर भी इसी आईडी के माध्यम से लॉग इन कर पायेगे।
  •  सरकार द्वारा देश के नागरिको को यह आप्शन दिया गया है कि अगर वह अपना राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड  बनवाना चाहते है तो बनवा सकते है और अगर नही बनवाना चाहता है तो उसे बनबाने के लिए कहा नही जायेगा और यह अनिवार्य नही है कि जब आपके पास राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड  होगा तभी आपको दवाई दी जाएगी।

राष्ट्रीय हेल्थ आई डी कार्ड बनबाने के लिए आवेदन कैसे करें (How to apply for making Pradhan Mantri National Health ID Card Yojna)

अगर आप इस राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड के लिए आवेदन करना चाहते है तो आप नीचे दिए जा रहे निर्देशों को पढकर अपना आवेदन कर सकते है।

  • नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन कर तहत अपना हेल्थ आईडी कार्ड बनबाने के लिए आपको सबसे पहले इसकी ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। आप चाहे तो इस दिए गये लिंक “https://nha.gov.in” पर क्लिक करके भी इस वेबसाइट पर विजिट कर सकते है।
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेगे आप इस वेबसाइट के होमपेज पर आ जायेगे, आपको आपको इस वेबसाइट के होमपेज पर “Create Health ID Card” का एक आप्शन दिखाई देगा, आपको इस आप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद एक नया पेज खुलेगा जिसमे आपको कुछ और आप्शन दिखाई देगे, अब इनमे से आपको “Create Your Health ID Now” के आप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • फिर अगले स्टेप में आपके सामने एक फॉर्म आ जायेगा जिसमे आपको “Generate your ID via Aadhar” और “Generate via Mobile” के दो आप्शन दिखाई देगे, आप जिससे भी अपनी ID बनाना चाहते है आप उस आप्शन को सेलेक्ट कर सकते है।
  • इसके बाद आपको आपको अपना मोबाइल नंबर या आधार नंबर जिस पर भी आपने क्लिक किया है उसको वेरीफाई करना होगा और इसके बाद आपके सामने हेल्थ आईडी कार्ड बनाने का आवेदन फॉर्म आ जायेगा, आपको इस फॉर्म में पूछी गयी सभी जरुरी जानकारी भरनी होगी।
  • सभी जानकारी को भरने के बाद आपको इस फॉर्म को सबमिट कर देना होगा। इसके बाद आपका राष्टीय हेल्थ आईडी कार्ड बना दिया जायेगा।

FINAL NOTE:

उम्मीद हैं आपको हमारी ये पोस्ट पढ़ने के बाद प्रधानमंत्री राष्ट्रीय हेल्थ आईडी कार्ड 2021- pradhan mantri health id card yojana के बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी। ये पोस्ट दुसरो के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी इसके बारे में पूरा ज्ञान मिल सके।

इस पोस्ट से जुड़े आपके कोई भी सवाल या सुझाव हो तो हमे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। धन्यवाद !

Leave a Comment