SEO kya hai or ise kaise karte hai

SEO Kya Hai और इसे कैसे करते हैं पूरी जानकारी हिंदी में

बहु सारे नए bloggers को यह नहीं पता होता है की SEO kya hai और इसे कैसे करते हैं। जिसकी वजह से उनका ब्लॉग बहुत पीछे रह जाता है।

आज के digital युग में SEO एक बहुत ही ज्यादा जरुरी चीज़ है। आज बड़ी बड़ी कंपनियन अपनी वेबसाइट के SEO के लिए लाखों रुपये तक खर्च कर देती है।

आपके भी मन में ये सवाल बार बार आता होगा की आखिर ये SEO है क्या ?

तो आज मैं आपको बहुत ही आसान शब्दों में SEO का मतलब समझाने वाली हूँ। SEO का full form “Search Engine Marketing” होता है।

SEO kya hai? Seo in Hindi

आसान शब्दों में कहें तो जैसे आज इंटरनेट पर हर niche से जुडी करोडो websites है लेकिन अगर हम search engine में कुछ भी सर्च करते हैं तो हमे जो websites टॉप पर दिखती है या first page पर दिखती हैं हम ज्यादा तर उन्ही को पढ़ना पसंद करते हैं या उन्ही में से जानकारी ले लेते हैं।

SEO in Hindi

और search engine में वही टॉप ranking पाने के लिए हम जिस technique का इस्तेमाल अपनी वेबसाइट के लिए करते हैं उसे SEO या search engine optimization कहते हैं।

अगर आपके पास भी अपनी खुद की वेबसाइट हैं तो आप भी यही चाहेंगे की search engine में वो top ranking में आये ताकि आपका ट्रैफिक बढे और आपको ज्यादा से ज्यादा इनकम हो।

Search Engine क्या है

सर्च इंजन एक ऑनलाइन डायरेक्टरी होती है जहाँ लाखों करोडो websites का data एक जगह इकठा होता है।

जैसे google, bing, और yahoo ये तीनो बहुत ज्यादा इस्तेमाल में लाये जाने वाले search engine हैं।

और इन तीनो में से google टॉप का search engine है जिसे आज इंटरनेट पर कुछ भी ढूंढ़ने के लिए लगभग हर कोई इस्तेमाल करता है।

Google में ranking पाने के लिए अपनी वेबसाइट को सबसे पहले Google search console में submit करना पड़ता है।

और SEO वह technique है जिसका इस्तेमाल कर के हम अपने वेबसाइट को Search engines के top पर ला सकते है ताकी ज्यादा से ज्यादा लोग उसे देखे।

हर सर्च इंजन का अपना अलग अलग algorithm होता है जिसके जरिये वो हमारी वेबसाइट को ranking देता है।

SEO Blog या Website के लिए कयूं जरुरी है

अब तक आप ये तो जान चुके हैं की SEO क्या है और search engine क्या होते हैं। अब मैं आपको बताने जा रही हु की SEO आपके ब्लॉग या website के लिए क्यों जरुरी है।

अगर आपके पास अपना एक ब्लॉग है जिसपर आप बहुत ज्यादा मेहनत करते हैं अच्छा high quality content लिखते हैं और अच्छी images का इस्तेमाल करते हैं पर अगर फिर भी वो ranking में ही न आये और उस पर कोई traffic भी न आये तो आपकी सारी मेहनत बेकार है।

इसलिए आपको अपने ब्लॉग को लोगों तक पहुंचाने के लिए SEO करने की जरुरत पड़ती है।

जैसे हम अपना कोई भी बिज़नेस शुरू करते हैं तो हमे उससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को बताना पड़ता है तभी कोई हमारे बिज़नेस के बारे में जानेगा और हमारा business सफल होगा।

ऐसे ही digital market में होता है आपको अपने ब्लॉग को ज्यादा से ज्यादा लोगो को बताने के लिए search engine optimization करना बहुत जरुरी होता हैं।

SEO करने के फायदे

  • आपका ब्लॉग search engine में top पर रैंक करता है
  • आपके ब्लॉग के बारे में ज्यादा से ज्यादा लोगों को पता लगता है
  • आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक बढ़ता है
  • इससे आपके ब्लॉग की brand value भी increase होती है
  • ब्लॉग्गिंग में बढ़ते competition को देखते हुए SEO करना बहुत जरुरी है
  • अपने ब्लॉग के articles को SEO friendly लिखने से वो जल्दी SERP  में रैंक करते हैं।

SERP क्या होता है?

SERP का full form Search Engine Result Page होता है। Google में search box में कुछ Type करने पर जो pages सामने आते हैं उसे SERP कहते हैं।

जब आप गूगल में कुछ भी सर्च करते हैं तो आपको दो तरह के result दिखाई देते हैं

इनमे जो सबसे टॉप पर दिखाई दे रहे हैं वो paid या inorganic result हैं जिनके लिए आपको पैसे देने पड़ते हैं। जब तक आप पैसे देते रहेंगे ये टॉप पर दिखती रहेंगी और जिस दिन पैसे देना बंद ये results भी show होना बंद हो जायेंगे।

और जो उसके निचे हैं वो free और organic result हैं जिनके लिए आपको कोई पैसा नहीं देना बस अपनी वेबसाइट की SEO अच्छी तरह करना है।

Types of SEO – SEO के प्रकार

SEO दो प्रकार के होते है आईये इन्हे एक एक करके देखें की इनको कैसे करते हैं

  • On Page SEO
  • Off Page SEO

On Page SEO:

On page SEO में हमें अपने ब्लॉग को search engine के हिसाब से optimize करना होता है। जैसे अपनी वेबसाइट का डिज़ाइन और कंटेंट SEO friendly होना चाहिए।

हम आपको वो सब तरीके बताने जा रहें हैं जिनसे आप अपने वेबसाइट का on page SEO कर सकते हैं

1. Keyword Research

On page SEO में सबसे पहला और सबसे ज्यादा important point है website के लिए keyword research.

सबसे पहले आपको ये पता होना चाहिए की keywords क्या होते हैं।

जिन भी शब्दों का इस्तेमाल करकर गूगल में कुछ ढूंढा जाता हैं उनको keywords बोलते हैं।

जैसे मान लो आप गूगल में “website par traffic kaise badhaye”लिख कर search कर रहे हो तो ये भी एक keyword है।

आपकी वेबसाइट को टॉप रैंकिंग में लाने के लिए keywords ही सबसे ज्यादा अहम् भूमिका निभातें हैं।

अगर आपके keywords अच्छे हैं तो आप जल्दी search engine में rank करेंगे।

और हमेशा high search or low competition और long tail keywords ही चुने ये ज्यादा beneficial होते हैं।

जैसे अगर आपका ब्लॉग ऑनलाइन earnings के ऊपर हैं तो आपके keywords “internet se paise kaise kamaye”, “online paise kaise kamaye” होने चाहिए।

Keywords research करने के लिए आप इन free tools का इस्तेमाल कर सकते हैं

  • Google keyword planner
  • Ubbersuggest

2. Title tag, Meta Tag और URL

एक बार आपने keywords research कर लिया तो उसके बाद उन keywords को सही जगह पर लगाना बहुत जरुरी हैं जैसे पोस्ट के title में, पोस्ट के URL में, और meta description मे।

what is SEO in Hindi

यही तीन जगह को गूगल का robot check करता है और उसे पता चलता हैं की आपका पोस्ट किस विषय पर है इसलिए इन तीनो जगह अपना main keyword जरूर इस्तेमाल करें क्यूंकि यही तीनो चीज़ें गूगल केsearch result में show होती हैं।

3. Heading tags और content में keyword का इस्तेमाल

अपने पोस्ट की heading tags or content पर भी आपको ख़ास ध्यान देना हैं जैसे आप सब जानते हो की पोस्ट का title by default H1 heading होता है।

इसमें तो आपको अपने कीवर्ड का इस्तेमाल करना  ही है साथ ही H2 heading में भी अपने keywords का इस्तेमाल जरूर करना है।

और आपने पोस्ट के first और last paragraph में भी अपने main keyword को जरूर use करें पर एक बात का ध्यान रखें की keyword stuffing न करें मतलब जबरदस्ती keyword को कहीं भी ना डालें एक तरीके से लिखें।

जितना आपके content की length हो उसका सिर्फ 2% ही keyword का इस्तेमाल अपने content में करें। अगर आप ये जानना चाहते है की SEO friendly content kaise likhe तो इसे पढ़े।

4. Image Optimization

जिस तरह कंटेंट में keyword जरुरी होता है उसी तरह अगर आप अपने पोस्ट में images का इस्तेमाल कर रहें हैं तो उनमे भी keyword का इस्तेमाल करना बहुत जरुरी होता है।

आप जब भी कोई इमेज अपने पोस्ट में add करें तो अपना main keyword उसके Alt Tag में जरूर डालें।

5. Internal Link

ब्लॉग में internal linking करना SEO के लिए बहुत अच्छा होता हैं।

गूगल भी उन posts को बहुत पसंद करता है जो आपस में एक दूसरे के साथ inter link होती हैं।

इसका एक बहुत बड़ा फायदा ये भी होता हैं की जब कोई user आपके पोस्ट पर आता हैं तो उसके मन में जो भी सवाल हो तो वो आपके दूसरे पोस्ट के internal लिंक से उसमे जाकर वो आसानी से आपके ब्लॉग के सारे पोस्ट पढ़ सकता है।

आपका bounce rate भी कम होता है और गूगल भी आपके पोस्ट को जल्दी रैंक करता है और आपके internal linking पेज भी साथ में रैंक होते हैं।

6. URL optimization

आपकी पोस्ट का URL एक दम simple और छोटा रखिये और उसमे अपने main keyword को जरूर add करें।

WordPress में URL set करने का option आता हैं वहां पर URL by post name पर सेट करें या आप manually भी सेट कर सकते हैं।

7. Loading Speed

Website की landing speed जितनी कम होती है उतना जल्दी website के search engine में rank करने के chances बढ़ते है।

Loading speed कम करने के लिए website में अपनी images को compress करे, ज्यादा heavy images वेबसाइट की loading स्पीड को बढ़ा देती हैं जिससे न ही वो जल्दी search engine में रैंक करती है और न तो ज्यादा visitors gain कर पाती है।

8. XML Sitemap

XML Sitemap हम सर्च इंजन के crawler के लिए create करते है जिससे सर्च इंजन को हमारी वेबसाइट के बारे में पता चलता है।

और इस xml sitemap को create करने के बाद हमे इसे google search console में add करना पड़ता है जिससे हमे ranking में हेल्प मिलती है।

9. Google Analytics

ये tool हमे हमारी website पर आने वाले सारे ट्रैफिक के बारे में पूरी जानकारी देता है।

  • कोनसा visitor किस country से आ रहा है
  • कोनसे browser से आ रहा है
  • कोनसे mobile से आ रहा है
  • किस keyword से हमे ज्यादा ट्रैफिक आ रहा है
  • New visitors और returning visitors के बारे में बताता है
  • किस page पर ज्यादा ट्रैफिक आ रहा है
  • website का bounce rate कितना है।

10. High Quality Content

अगर आप अपनी वेबसाइट में high quality content लिखते है तो आपकी वेबसाइट बहुत जल्दी रैंक करने लगेगी।

इसलिए हमेशा detailed high quality content ही लिखे जिससे आपके users को पूरी जानकारी मिल सके और हो सके तो थोड़ा lengthy content लिखे।

पर lengthy content लिखते समय क्वालिटी का हमेशा ध्यान रखें और कंटेंट में कीवर्ड्स का सही तरीके से इस्तेमाल करें।

OFF Page SEO:

 जिस तरह वेबसाइट को रैंक करने के लिए on page SEO करना जरुरी है वैसे ही off page SEO भी बहुत जरुरी है।

वेबसाइट को रैंकिंग में लाने के लिए हम जो भी जरुरी techniques का इस्तेमाल करते है और  वेबसाइट को digitally promote करते वो सब ऑफ पेज में आते हैं।

1. Search Engine Submission

Off page SEO का सबसे पहला step search engine submission होता है।

इसमें हमे अपनी वेबसाइट को सारे search engines में अच्छे से submit करना होता है।

2. Link Building

Link building बहुत ज्यादा important step है off page SEO का। इसमें हम अपनी वेबसाइट के लिए क्वालिटी backlinks create करते हैं।

Quality backlinks create करने के बहुत सारे तरीके हैं

  • Bookmarking – अपनी वेबसाइट या ब्लॉग post को अच्छी bookmarking sites में submit करें
  • Directory submission – अपने ब्लॉग को high PR वाली directories में submit करें
  • Classified submission – Free classified submission sites में अपने ब्लॉग या वेबसाइट को submit करें
  • Question & Answers Sites – Q&A sites पर अपना account बनाकर उसमे अपने ब्लॉग से related subjects के questions के answer दे, साथ में अपने ब्लॉग का लिंक add करे
  • Blog commenting – अपने ब्लॉग से related subject के दूसरे टॉप blogs पर जाकर उनके निचे comment करें और साथ में अपने ब्लॉग का लिंक ऐड करें।

यह सब वो तरीके हैं जिनसे आप अपने ब्लॉग के लिए बहुत अच्छे high quality backlinks बना सकते हैं।

3. Guest Post

अपने ब्लॉग से related किसी दूसरे पॉपुलर ब्लॉग पर guest post लिखने से आपको एक high quality backlink भी मिलता है और साथ ही साथ अपने ब्लॉग के लिए बहुत अच्छा ट्रैफिक भी मिलता है।

ये बहुत ही popular तरीका है एक do-follow backlink लेने का। और आपके domain की authority भी बढ़ती है।

4. Social Media

seo kya hai

आजकल  सोशल मीडिया बहुत पॉपुलर तरीका है अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का प्रमोशन करने का।

Facebook, twitter, instagram, linkedin जैसी वेब्सीटेस पर अपने ब्लॉग के पेज बनाये और वहां पर रेगुलर अपडेट करकर वहां पर अपने follower’s को बढ़ाने का प्रयास करें।

सोशल मीडिया पर अपने ब्लॉग के हर पोस्ट को share करें।

5. Pinterest

Pinterest वैसे तो सोशल मीडिया का ही एक पार्ट है पर ये बहुत important साइट है और यहां से बहुत अच्छे बैकलिंक और ट्रैफिक मिलता है।

इसलिए pinterest पर अकाउंट जरूर बनाये और अपने ब्लॉग के images  शेयर करें और साथ में अपने ब्लॉग का लिंक दें।

Local SEO

अब तक आप ये तो जान गए हैं की SEO kya hai और ise kaise karte hai तो चलिए अब Local SEO के बारे में आसान शब्दों में जानते हैं, जब आप अपने बिज़नेस को local public के लिए बनाते है तो उसके लिए हमे local SEO करना पड़ता है।

मान लीजिये आपने एक khaadi shop open की है और आप चाहते हो की आपके पुरे शहर को आपकी शॉप के बारे में पता चले तो उसके लिए local SEO करनी होगी।

इसके लिए आपको अपनी वेबसाइट का address भी optimize करवाना होगा और local listings में भी वेबसाइट को ऐड करना होगा।

Google maps में भी वेबसाइट को ऐड करें।

कोई भी जब “khaadi shop near me” और “khaadi shop in Mohali” सर्च करेगा तो आपकी शॉप का address सबसे ऊपर आएगा।

SEO करने के Techniques

1. White Hat SEO

White hat SEO वो technoque है जिसमे आप अपनी वेबसाइट को natural way से गूगल की guidelines को follow करते हुए optimize करते हैं। 

अगर आप अपनी वेबसाइट को लम्बे समय के लिए रखना चाहते है तो इसी technique का इस्तेमाल करें और सही तरीके से अपनी वेबसाइट की SEO करें।

  • सही तरीके से link building करें
  • Quality content लिखें
  • Google guidelines को follow करें
  • वेबसाइट की स्पीड अच्छी रखें

आपको जितने भी तरीके ऊपर इस पोस्ट में बताएं है वो सब white hat SEO के ही तरीके हैं।

2. Black Hat SEO

जब कोई अपनी वेबसाइट को optimize करते समय गूगल की guidelines को ध्यान में नहीं रखता है तो उसे black hat SEO कहते हैं।

  • Keywords stuffing करना
  • अपने पोस्ट के मेटा description में unrelated content डालना
  • Duplicate content को अपने ब्लॉग पर पोस्ट करना

पर एक बात का ध्यान रखने की इस तरीके से काम करने से आपका ब्लॉग penalized हो जायेगा और जल्दी ही बंद हो जायेगा।

Successful bloggers कभी भी इस तरीके का इस्तेमाल नहीं करते हैं। आप भी अगर अपने ब्लॉग को google में सही तरीके से ranking में लाना चाहते है तो सिर्फ white hat SEO ही करें।

SEO और SEM में क्या अंतर है

अगर आप हमेशा SEO और SEM में confuse होते हैं तो चलिए हम आपको बताते है की ये दोनों क्या है

SEO Kya Hai

SEO के बारे में मैं अपने पुरे पोस्ट में आपको बता चुकी हु की SEO का full form Search Engine Optimization  होता है और ये free और  organic तरीके से आपके वेबसाइट की रैंकिंग और ट्रैफिक बढ़ाने के लिए किया जाता हैं।

SEM Kya Hai

यह एक paid promotion technique है। इसका full form Search Engine Marketing है।

इसमें आपको अपने वेबसाइट को रैंकिंग में लाने के लिए paid promotion करने होते हैं।

जैसे गूगल का google adword है जहां पर आप अगर पैसे देकर अपने वेबसाइट की ads चलाते हो तो वो SEM कहलाता है।

Final Note

दोस्तों उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गयी SEO kya hai और इसे कैसे करते हैं के बारे में पूरी जानकारी समझ आ गयी होगी।

कोई भी सवाल हो या सुझाव हो या आपको ये पोस्ट पसंद आयी हो तो हमे comment box में जरूर बताएं।

और technology और blogging से जुडी अधिक जानकारी के लिए हमे follow करें। 

अपना कीमती समय देने के लिए धन्यवाद।

Leave a Comment