Signal app kya hai और Signal मेसेजिंग एप्प किस तरह से सिक्योर है । what is Signal App । Is Signal App Safe ?

Signal app kya hai: जैसा कि आप जानते है कि भी 4 जनवरी 2021 के बाद WhatsApp ने अपनी Privacy Policy को अपडेट किया है  जिसमे कहा गया है कि अब अब उनके यूजर का डाटा फेसबुक के साथ शेयर किया जायेगा, और अगर यूजर इस Policy को एक्सेप्ट नही करता है तो उसका WhatsApp अकाउंट डिलीट कर दिया जायेगा।

WhatsApp द्वारा ऐसा बयान आने के बाद बहुत से लोगो ने इस Privacy Policy का विरोध किया है हालाँकि अब whatsapp ने ऐसा कदम उठाने से मना कर दिया है। लेकिन फिर भी ज्यादातर लोग दुसरे app पर स्विच हो रहे है।

 WhatsApp की इस Privacy Policy का सबसे बड़ा फायदा Signal app को मिला है और बहुत से लोग इस सिंग्नल app पर स्विच हो रहे है जहाँ आपको काफी अच्छी Privacy Policy और सिक्यूरिटी मिलती है।

अगर आप इस Signal app के बारे में और जानकारी लेना चाहते है तो आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े, इस ब्लॉग में हम आपको Signal app के बारे में सभी जानकारी देगे।

व्हाट्सएप की नई पॉलिसी आने के नाद Signal App को काफी डाउनलोड मिल रहे है और आये दिन इसके लाखो यूजर बढ़ रहे है और जिसका सीधा प्रभाव WhatsApp पर पड़ रहा है और उसके यूजर कम होते जा रहे है।

एक रिपोर्ट के अनुसार अभी कुछ  दिन पहले Signal App पर इतने एक्टिव यूजर हो गये थे कि अचानक Signal App का सर्वर डाउन हो गया था लेकिन फिर बाद में जल्दी ही इसको सही कर दिया गया और साथ ही Signal app के ट्विटर अकाउंट से ट्वीट भी किया गया था कि एक साथ अधिक यूजर्स होने के कारण वेरिफिकेशन कोड मिलने में परेशानी आ रही है, लेकिन फिर बाद में इस समस्या को सही कर दिया गया था।

इस बात से यह पता चलता है कि अब लोग WhatsApp से इस Signal app पर स्विच हो रहे है। Is Signal app safe or not तो चलिए आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

Signal App kya hai । What is Signal App | Signal App Features in Hindi

Signal app एक Cross Platform encrypted Messaging App है जो Windows OS, iOS, Mac OS, और Android devices के लिए उपलब्ध है।

आपको यह जानकर काफी आश्चर्य होगा कि यह Signal फाउंडेशन अभी एक नॉन प्रॉफिट कंपनी है और इसका funding डोनेशन पर होती है। आप इस app पर वह सभी काम कर सकते है जो आप WhatsApp पर कर सकते है। वैसे तो इस app को 2010 में लांच किया गया था लेकिन 2014 के बाद इस app में end to end encrypted का फीचर ऐड किया गया और तब इस app का नाम (Open Whisper System) था लेकिन फिर बाद में 2015 में  में इसका नाम बदल कर Signal कर दिया गया था और इसके बाद इसमें कई सारे फीचर ऐड होते गये।

इस Signal app पर आपको WhatsApp से ज्यादा अच्छी Privacy और सिक्यूरिटी मिलती है। इस Signal आप पर आप अपने फ्रेंड्स के साथ chat भी कर सकते है और साथ ही आप उनको voice call और video call भी कर सकते है। इस Signal app पर सेंड किये जाने वाले सभी मेसेज एन्क्रिप्टेड होते है।

इस app पर आप अपने फ्रेंड्स के साथ images, फाइल्स, voice notes, videos को भी शेयर कर सकते है। यह Signal app अभी पूरी तरह से एंड्राइड यूजर और Ios यूजर, windows, Mac OS और Linux के लिए फ्री है। और कोई भी कस्टमर इसको डाउनलोड कर सकता है।

अभी Signal App, एपल के एप स्टोर और गूगल के play स्टोर पर टॉप फ्री एप की लिस्ट में सबसे ऊपर आ गया है क्योंकि इस Signal App को व्हाट्सएप के सबसे बड़े विकल्प के रूप में देखा जा रहा है, हालांकि इस Signal app के साथ दुसरे messaging app टेलीग्राम का भी नाम आ रहा है और उसके भी डाउनलोड बढ़ते जा रहे है।

Signal App का मालिक कौन है?

अभी वर्तमान में इस Signal एप के owner Signal फाउंडेशन (Signal Foundation) और Signal मैसेंजर एलएलसी (Signal Messenger LLC) है और इनके अभी राइट्स भी इन्ही के पास है।

इस Signal app को अमेरिकन क्रिप्टोग्राफर मॉक्सी मार्लिनस्पाइक (Moxie Marlinspike) ने डेवेलोप किया है और यही वर्तमान में Signal मैसेंजर एप के CEO भी हैं।

Signal App किस देश का है?

Signal Messaging Application एक अमेरिकन कंपनी (American Company) Signal Messenger LLC द्वारा संचालित है, यानी की Signal ऐप कैलिफोर्निया, अमेरिका (USA) का है।

Is Signal App Safe | Security on Signal App

Is signal app safe or not: Signal भी व्हाट्सएप की तरह एक मल्टीमीडिया मैसेजिंग एप है लेकिन इसमें आपको काफी अच्छी सिक्यूरिटी और Privacy मिलती है। जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि यह एक नॉन profitable कंपनी है मतलब यह कम्पनी अपने यूजर के डाटा को किसी के साथ शेयर नही करती है। यह कम्पनी पूरी तरह डोनेशन पर चलती है। Signal एप की टैगलाइन ‘Say Hello to Privacy’ है।

इस Signal आप पर आप जो भी टेक्स्ट मेसेज, फाइल्स, videos, या फिर कोई भी डाटा सेंड या रिसीव करते है वो पूरी तरह end to end encrypted होता है और साथ ही Signal app का meta डाटा भी पूरी तरह end to end encrypted होता है जबकि whatsapp में सिर्फ मेसेज और call ही end to end encrypted होते है, जिसके कारण आपको Signal app में काफी ज्यादा सिक्यूरिटी मिलती है। Signal app पर भी अपनी फ्रेंड्स के साथ ग्रुप भी बना सकते हैं और उस ग्रुप में आप अपने 150 फ्रेंड्स तक को ऐड कर सकते है।

यह Signal आप किसी एनी थर्ड पार्टी के साथ लिंक भी नही होता होता है जिसका मतलब है कि आप WhatsApp की तरह इस app का बैकअप गूगल ड्राइव पर नही ले सकते है। इसके अलावा इस app में आपको कई फीचर मिल जाते है जो इस app को बाकि messaging app से बेहतर बनाते है और साथ ही आपके डाटा को सिक्योर भी रखते है।

अगर आप इस Signal एप की सिक्योरिटी के बारे में और जानना चाहते है तो आपको बता दू कि इस Signal app की तारीफ व्हाट्सएप के Co founder ब्रायन एक्टन भी कर चुके हैं। 2017 में ब्रायन एक्टन ने WhatsApp को छोड़ दिया था और इसके बाद उन्होंने Signal app में लगभग 59 मिलियन डॉलर की फंडिंग भी दी थी।

Signal app अपने यूजर की डाटा को अपने पास स्टोर नही करता है यह सिर्फ आपका फ़ोन नंबर लेता है जिससे आपका अकाउंट बना सके जबकि whatsapp आपकी 16 तरह की जानकारी को एक्सेस करता है। आशा करती हु कि इस आर्टिकल में हमने आपको Signal app kya hai और इससे सम्बंधित सभी जानकारी दे दी है। अगर आप फिर भी किसी प्रकार की अन्य जानकारी लेना चाहते है तो आप नीचे कमेंट कर सकते है।

Leave a Comment