कंप्यूटर कितने प्रकार का होता है? | How many types of Computers in Hindi

कंप्यूटर कितने प्रकार का होता है – आज के समय में computer हमारे जीवन की एक जरुरत बन चुका है और हमारा जीवन बहुत से कामो पर निर्भर करता है जिसके बिना हमारा जीवन काफी मुश्किल हो सकता है।

इसके अलावा बहुत से कामो को करने के लिए हम पूरी तरह से computer पर निर्भर है जो काम कोई इन्सान नही कर सकता है। आपको बता दू कि कंप्यूटर कई तरह के होते है जिनको अलग तरह से काम करने के लिए अलग अलग डिजाईन किया जाता है। इस लिए अगर आप कंप्यूटर के बारे में जानना चाहते है तो आप इस आर्टिकल को अंत तक पढ़िए इसमें आपको सभी जानकारी दी जाएगी।

वर्तमान में कंप्यूटर का इस्तेमाल हर क्षेत्र में हो रहा है जैसे Science, medical, बैंकिंग, डिफेन्स या फिर किसी बड़ी कंपनी के data को store करने के लिया या फिर उसको maintain करने के लिए जैसे बड़े कामो में कंप्यूटर का काम काफी जरुरी है और कंप्यूटर ये सभी काम काफी आसानी से कर सकता है।

इस आर्टिकल में आपको कंप्यूटर के सभी प्रकार के बारे में जानकारी दी जाएगी जिससे कि अगर आपको कभी कोई कंप्यूटर लेना हो तब आपको अपने लिए कौन सा कंप्यूटर लेना चाहिए। इस आर्टिकल को पढने के बाद आपको कंप्यूटर और उसके बारे में काफी जानकारी मिल सकेगी जिससे आप कंप्यूटर के प्रकार को समझ सकेगे कि कौन सा कंप्यूटर आपके लिए बेहतर है।

Computer क्या है What is Computer?

Computer शब्द Compute शब्द से मिलकर बना है जिस शब्द का मतलब गणना करना होता है। शुरुआत में कंप्यूटर का अविष्कार सिर्फ गणना करने के लिए ही किया जाता था फिर बाद में कंप्यूटर के विकास के साथ इसका प्रयोग भी बढ़ता गया और फिर कम्प्यूटर भी develop होता गया इसके बाद कंप्यूटर का प्रयोग हर जगह होने लगा। आज कल तो ऐसा कोई भी क्षेत्र नही है जहां पर कंप्यूटर का इस्तेमाल न हो रहा हो।

कंप्यूटर एक ऐसी इलेक्ट्रोनिक Device है जो User द्वारा दिये गये input को पहले से दिए गये निर्देशों के अनुसार उस डाटा को process करके उस इनपुट का output प्रदान करता है। कंप्यूटर किसी भी डाटा को तीन स्टेप में प्रोसेस करता है पहले स्टेप में कंप्यूटर किसी यूजर से किसी input device (Keyboard, mouse) से input लेता है इसके बाद वह इनपुट कंप्यूटर के दिमाग में प्रोसेस किया जाता है जिसको CPU (control processing unit) कहते है इसके बाद CPU उस डाटा को प्रोसेस करने के बाद उस डाटा का आउटपुट दे देता है यह output किसी आउटपुट डिवाइस पर ही दिया जाता है वैसे सामान्यता आउटपुट मॉनिटर पर दिया जाता है।

कंप्यूटर कितने प्रकार का होता है (Types of Computer)

कंप्यूटर कितने प्रकार का होता है? जैसा कि आप जानते है कि कंप्यूटर एक multi purpose machine है जो कई कामो को एक साथ कर सकती है और इसके अलावा इस पर एक साथ कई काम किये जा सकते है। इसी लिए कंप्यूटर के अलग अलग कामो को देखते हुए computer को भी कई तरह से classify किया गया है जिसके बारे में पूरी जानकारी आपको नीचे दी जा रही है।

सरंचना के आधार पर (Basis on Structure of Computers)

कंप्यूटर के प्रकार की इस प्रोसेस में कंप्यूटर को उसकी सरंचना के आधार पर भी बिभाजित किया जाता है। कंप्यूटर को उसकी सरंचना के आधार पर कुल तीन भागो में बिभाजित किया गया है और इन तीनो भागो की पूरी जानकारी नीचे दी जा रही है।

कंप्यूटर कितने प्रकार का होता है?

1. एनालॉग कंप्यूटर (Analog computer) :

ऐसे सभी यंत्रो को इस एनालॉग कंप्यूटर की श्रेणी में रखा जाता है जिनमे किसी तरह की कैलकुलेशन के लिए डिजिटल नंबर को प्रोयोग नही किया जाता है। इन तरह के सभी कंप्यूटर में डाटा को एनालॉग तरीके से measure किया जाता है।

इस तरह से सभी कंप्यूटर को एनालॉग कंप्यूटर कहते है यह सामान्यता भौतिक बिज्ञान (Physics) में प्रयोग किया जाता है। ये computer सिर्फ analog डाटा को digital फॉर्म में प्रोसेस करता है। इस कंप्यूटर को volatge, pressure, या फिर Temperature को measure करने के लिए प्रयोग किया जाता है। ये कंप्यूटर physics की कैलकुलेशन के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है।

2. डिजिटल कंप्यूटर (Digital computer) :

ऐसा कंप्यूटर जो किसी डिजिटल डाटा को प्रोसेस कर सकता है उसको डिजिटल कंप्यूटर कहा जाता है। ये digital computer किसी भी डाटा को 1 और 0 के फॉर्म में डाटा को रिसीव करता है और उस डाटा को प्रोसेस करने के बाद मॉनिटर भी इसका आउटपुट दिखा देता है।

आज के समय में जितने भी कंप्यूटर है जो कीबोर्ड से डाटा लेकर उसको मॉनिटर पर दिखा देते है और जो डिजिटल डाटा को इनपुट के रूप में लेते है उनको डिजिटल कंप्यूटर कहते है।

3. हाइब्रिड कंप्यूटर (Hybrid computer) :

ऐसा computer जो दोनों प्रकार के कंप्यूटर (analog कंप्यूटर और digital कंप्यूटर) की कैलकुलेशन को एक साथ में कर सकता है और इसके अलावा दोनों तरह की गणनायें कर सकता है और साथ ही दोनों तरह के कंप्यूटर की feature रखता है उसे hybrid Computer कहते है। इस Computer का प्रयोग अस्पतालों में किया जाता है जोकि मरीजो के धड़कन और रक्तचाप आदि तरह के कामो के लिए प्रयोग किया जाता है।

जरूरत के आधार पर (On the basis of Purpose)

आज के समय में काफी तरह के कंप्यूटर बाजार में उपलब्ध है इसलिए कंप्यूटर को उनके काम या जरूरत के अनुसार classify किया गया है क्योंकि कुछ लोग Computer को नार्मल काम करने के लिए लेना चाहते है लेकिन वही कुछ लोग कंप्यूटर को काफी ज्यादा काम करने के प्रयोग करते है इसलिए Computer को उनके काम के अनुसार दो भागो में classify किया गया है।

1. General purpose computer:

इस जनरल purpose Computer की श्रेणी में वो कंप्यूटर आते है जो एक ऑफिस के काम करने के लिए या फिर किसी तरह का पर्सनल काम करने के लिए लिया जाता है उनको General purpose computer कहते है। इन कंप्यूटर को एक स्टूडेंट, ऑफिस में काम करने वाला एम्प्लोयी, या फिर किसी oraganization का सीईओ लेता है।

इन computer पर हम  ऑफिस का काम, ducumentation, web सर्फिंग करना, गेम्स खेलना, मूवी देखना आदि तरह के काम हम कर सकते है। इसके अलावा आप इन General purpose computer पर multi-tasking भी कर सकते है। इन computer में आप नार्मल CPU प्रयोग किये जाते है। इसलिए ये Computer ज्यादा महगे नही होते है।

2. Multi purpose computer:

इस multi purpose computer की श्रेणी में वह कंप्यूटर आते है जो किसी बिशेष काम को करने के लिए बनाये जाते है मतलब कि वह काम किसी जनरल purpose वाले कंप्यूटर पर नही हो सकता है इसलिए इन कंप्यूटरो को उस काम के लिए प्रयोग  किया जाता है।

इन multi purpose computer को काम्प्लेक्स कैलकुलेशन करने, मौसम की भविष्यवाणी करने के लिए डाटा को एनालिसिस करने के लिए, साइंटिफिक रिचर्स करने जैसे बड़े कामो के लिए इन कंप्यूटर का प्रयोग किया जाता है। इस तरह के कंप्यूटरों में काफी महगे CPU लगे होते है और इनके साइज़ भी काफी बड़े होते है जिसके कारण यह कंप्यूटर काफी महगे होते और इन कंप्यूटर की प्रोसेसिंग स्पीड बहुत फ़ास्ट होती है। ये Computer General purpose computer ये ज्यादा फ़ास्ट और अधिक फायदेमंद होते है।

आकार के आधार पर (On the basis of Size)

आज के समय में काफी कंप्यूटर उपलब्ध है इसलिए उनको उनके आकार के आधार पर भी classify किया जा सकता है।

1. माइक्रो कंप्यूटर (micro Computer):

यह कंप्यूटर एक नार्मल वर्क के लिए प्रयोग किया जाता है। इस computer में सिर्फ एक  ही CPU लगा होता है और ये Computer साइज़ में काफी छोटा होता है और Computer ज्यादा महगा भी नही होता है। इस Computer पर आप अपना सभी पर्सनल काम कर सकते है। ये Computer नार्मल वर्क के लिए प्रयोग किया जाता है।

2. मिनी कंप्यूटर (mini Computer):

mini Computer mainframe Computer से छोटे और माइक्रो कंप्यूटर से बड़े होते है और उनसे प्राइस में भी सस्ते भी होते है। यह Computer माइक्रो कंप्यूटर की तुलना में fast होते है और इनमे मेमोरी भी ज्यादा होती है और ये Computer multi वर्क के लिए भी प्रयोग किये जा सकते है। ये Computer किसी भी कम पर्सनल, ऑफिस, स्कूल के काम से प्रयोग किये जा सकते है।

3. मेनफ़्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computer):

इन Computers का इस्तेमाल बड़ी बड़ी कंपनी में कंपनी के डाटा को मैनेज करने के लिए किया जाता है। ये computers मिनी और माइक्रो कंप्यूटर से काफी fast होते है, लेकिन ये super Computer के जितने fast नही होते है। इन mainframe Computer में स्टोरेज कैपेसिटी और RAM मेमोरी भी ज्यादा होती है इसके अलावा ये कंप्यूटर काफी महगे भी होते है। ये mainframe Computer किसी भी डाटा को काफी जल्फी प्रोसेस कर सकते है इसीलिए बड़ी बड़ी आर्गेनाइजेशन इनको अपनी कंपनी में इनस्टॉल करती है।

4. सुपर कंप्यूटर (Super Computer):

जैसा कि इनके नाम से पता चल रहा है कि यह सुपर कंप्यूटर होते है यह computers बाकि सभी तरह के Computer से बहुत fast होते है। इन computers की काम करने की स्पीड और क्षमता बहुत अधिक होती है। यह super Computer बहुत से कामो को एक साथ करने की क्षमता रखते है और ये ऐसे ही कामो को करने के लिए बनाये जाते है।

इन Computer का इस्तेमाल किसी साइंटिफिक डाटा को analysis करने, काम्प्लेक्स कैलकुलेशन करने के लिए, मौसम की भविष्यवाणी (weather Forecasting) करने के लिए डाटा को एनालिसिस करने में, साइंटिफिक रिचर्स करने जैसे बड़े कामो के लिए इन कंप्यूटर का प्रयोग किया जाता है।

एक super Computer को बनाने के लिए बहुत से CPU को parallel रूप से जोड़ा जाता है जिससे सभी CPU एक साथ काम कर सके। ये Computer साइज़ में काफी बड़े होते है और काफी heat produce करते है इसलिए इनको ठंडा रखें के लिए AC युक्त कमरे में install किया जाता है।

Final Note:

दोस्तों उम्मीद हैं कंप्यूटर कितने प्रकार का होता है को लेकर आपके मन में जो भी सवाल होंगे वो सब इस पोस्ट को पढ़ने के बाद दूर हो गए होंगे। अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो हमारी ये पोस्ट अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे।
इस पोस्ट से जुड़े कोई भी सवाल या सुझाव हो तो हमे कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें। धन्यवाद !

Leave a Comment